Wednesday, July 24, 2024
spot_img
HomeCrimeदुल्हन की मां बोली - हत्यारे को वैसे ही मारा जाए जैसे...

दुल्हन की मां बोली – हत्यारे को वैसे ही मारा जाए जैसे उसने मेरी बेटी को मारा

काजल की मां का कहना था कि हत्यारे दीपक को भी उसी तरह मारा जाए जिस तरह से उसने बेटी की हत्या की थी। हालांकि काजल की मां की चाहत अधूरी रह गई। क्योंकि उसकी बेटी को मारने वाले दीपक ने मुरैना में धर्मशाला में फांसी पर लटककर जान दे दी। हत्या के बाद दोनों ही परिवार गमगीन है

काजल की मां का कहना था कि हत्यारे दीपक को भी उसी तरह मारा जाए जिस तरह से उसने बेटी की हत्या की थी। हालांकि काजल की मां की चाहत अधूरी रह गई। क्योंकि उसकी बेटी को मारने वाले दीपक ने मुरैना में धर्मशाला में फांसी पर लटककर जान दे दी। हत्या के बाद दोनों ही परिवार गमगीन है। गांव वालों का कहना था कि यदि काजल व दीपक के बीच पांच साल से संपर्क था। यदि काजल के पिता मान जाते तो दोनों की इस तरह से मौत न होती।

यहां बता दें कि प्रेमिका को गोली मारने के बाद भागे प्रेमी ने भी मंगलवार को खुद फांसी लगाकर जान दे दी। दो दिन पहले 23 जून को बरगांय निवासी राजकुमार अहिरवार की बेटी काजल की उसके प्रेमी दीपक अहिरवार ने उस समय झांसी में गोली मारकर हत्या कर दी थी, जब काजल अपनी शादी के ऐन मौके पर दुल्हन का श्रृंगार करने ब्यूटी पार्लर गई थी।

काजल को गोली मारने के बाद दीपक मौके से भाग निकला था। उप्र पुलिस उसकी तलाश में बरगांय भी आई थी। लेकिन वह नहीं मिला। मंगलवार को उसकी मोबाइल लोकेशन के आधार पर पुलिस मुरैना पहुंची तो वहां एक धर्मशाला में उसका शव लटका मिला।

बरगांय में काजल और दीपक के घर बिल्कुल पास-पास हैं। यहां दोनों में दोस्ती हो गई। इस दौरान दीपक काजल को पसंद करने लगा था। घटना से करीब एक सप्ताह पहले दीपक और काजल दोनों साथ में कहीं चले भी गए थे। इस मामले में काजल के स्वजन ने पुलिस में उसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। जिसके बाद पुलिस ने काजल को दस्तयाब कर स्वजन के सुपुर्द कर दिया था। मामले में दोनों परिवारों में राजीनामा भी हुआ था। दोनों कोर्ट में शादी करना चाहते थे। लेकिन जब वे घर से भाग कर गए थे तब कोर्ट की छुट्टी थी। इसलिए वे शादी नहीं कर सके।

दीपक के साथ लौटने के बाद काजल के परिवार वालों ने उसका रिश्ता झांसी चिरगांव के सिमथरी गांव के राज के साथ कर दिया। इतना ही नहीं काजल को भी झांसी भेज दिया। साथ ही जिस लड़के के साथ शादी तय की थी उसे दहेज भी खेत बेचकर दिया था। यहां तक कि खेत बेचकर कार भी दहेज में दी थी। लेकिन यह बात दीपक को नागवार गुजरी और वह शादी वाले दिन ही झांसी पहुंच गया। जहां उसने घटना को अंजाम दे डाला।

SourceNaidunia
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments